महंगाई की पिच पर पेट्रोल-डीजल की ताबड़तोड़ बैटिंग पिछले आठ दिनों से जारी है। राजस्थान के श्रीगंगानगर में साधारण पेट्रोल अब अपने शतक से महज 13 पैसे दूर है और अगर ऐसे ही यह बढ़ता रहा तो कल 100 रुपये लीटर के पार चला जाएगा। वहीं यहां एक्स्ट्रा प्रीमियम पेट्रोल पहले ही शतक पार कर चुका है और आज यानी मंगलवार को 102.65 रुपये पर डटा हुआ है। वहीं भोपाल में भी इस पेट्रोल की कीमत 100 के पार चली गई है।  तेल के खेल में पेट्रोल का भरपूर साथ दे रहा है डीजल। कई शहरों में इसने भी अपने कदम शतक की ओर बढ़ा लिए हैं।

देखें किस शहर में 100 रुपये लीटर से कितना करीब तेल

शहर का नाम पेट्रोल रुपये/लीटर

डीजल रुपये/लीटर

श्रीगंगानगर 99.87 91.86
दिल्ली 89.29 79.7
मुंबई 95.75 86.72
कोलकाता 90.54 83.29
लखनऊ 87.87 80.07
जयपुर 95.75 88.07
इंदौर 97.35 87.98
पुणे 95.4 85.06
पटना 91.67 84.92
अहमदाबाद 86.49 85.83
आगरा 87.63 79.77
चेन्नई 91.45 84.77
गुवाहटी 86.25 80.41

स्रोत: IOC

मेट्रो शहरो में भी पेट्रोल की धुंआधार बैटिंग

मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में पेट्रोल की कीमत  89 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गई तो मुंबई में पट्रोल की कीम 96 रुपये के करीब आ गई है। यानी मुंबई में यह शतक से केवल 4 रुपये दूर है। सरकारी तेल मार्केटिंग कंपनियों ने पेट्रोल की कीमतों में लगातार आठवें दिन बढ़ोतरी की है। आज पेट्रोल की कीमत में 30 पैसे और डीजल की कीमत में 38 पैसे प्रति लीटर तक की बढ़ोतरी की गई है। इसके बाद दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 89.29 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 95.75 रुपये प्रति लीटर हो गई। स्थानीय कर और भाड़े के आधार पर विभिन्न राज्यों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें अलग-अलग होती हैं। 

मांग बढ़ने से कच्चे तेल में आया उछाल

ओपेक देशों द्वारा आपूर्ति घटाने और दुनियाभार में मांग बढ़ने से अंतरराष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट क्रूड कच्चा तेल 63.50 डॉलर प्रति बैरल के मनोवैज्ञानिक स्तर पर पहुंच गया है। एंजेल ब्रोकिंग के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटीज एंड रिसर्च) अनुज गुप्ता  के मुताबिक कच्चे तेल के भाव में 1 जनवरी से अबतक करीब 20 फीसदी का उछाल आ चुका है। अप्रैल तक कच्चा तेल 75 डॉलर प्रति बैरल तक जा सकता है। इससे भारतीय बाजार में पेट्रोल-डीजल समेत रसोई गैस की कीमत में और बढ़ोतरी होगी।

यह भी पढ़ें: 29 के पेट्रोल पर 53 रुपये टैक्स, डीजल का बेस प्राइस सिर्फ 30.55 रुपये लीटर

आगे भी जारी रहेगा तेल का शानदार खेल

  • ओपेक और सहयोगी देशों द्वारा कच्चे तेल का उत्पादन घटाने से कीमत कम नहीं होगी
  •  कोरोना के मामले घटने और सरकारों द्वारा प्रोत्साहन पैकेज से तेल की मांग में बढ़ोतरी
  • अमेरिकी राष्ट्रपति जो. बाइडेन द्वारा अमेरिका में शेल द्वारा कच्चा तेल का उत्पादन घटाने का संकेत
  • अधिकांश मुद्राओं के मुकाबले डॉलर में कमजोरी से भी कच्चे तेल को समर्थन
  • दुनियाभर में जारी भू-राजनीतिक तनाव के कारण भी कच्चे तेल में तेजी जारी



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here