निशाने पर सलमान
आजकल कमाल खान ने सलमान खान को निशाने पर ले रखा है। पहले तो उन्होंने सलमान खान के संगठन बीइंग ह्यूमन को ढकोसला बताया और कहा कि वे इसके जरिए समाज सेवा नहीं पैसों को इधर-उधर कर रहे हैं। उन्होंने सलमान की दानवीरता की जमकर खिल्ली उड़ाई। उन्हें गुंडा और दो रुपए का एक्टर कहा। उन्होंने सलमान खान की फिल्म ‘राधे’ की चीरफाड़ कर सलमान को बिलबिलाने पर मजबूर कर दिया। सलमान ने कमाल खान पर मानहानि का दावा ठोंक दिया। अदालत में कमाल ने कहा कि वे सलमान पर टिप्पणी नहीं करेंगे। मगर हुआ उलटा। मानहानि के दावे और आश्वासन के बावजूद कमाल ने सलमान की छीछालेदर करना बंद नहीं किया। लिहाजा सलमान खान को अदालत में जाकर कहना पड़ा कि हुजूर इस बंदे को रोकिए। यह आपके आदेशों तक को नहीं मान रहा है और अदालत की अवमानना कर रहा है। अदालत सलमान की गुहार पर आज सुनवाई करेगी। मगर इतना जरूर है कि पहली बार सलमान खान को ऐसा बंदा मिला है, जिससे वे निपट नहीं पा रहे हैं।

महंगी करीना
मुंबई फिल्म इंडस्ट्री में कई धारणाएं सालों से चली आ रही है। इनमें एक यह है कि फिल्म निर्माता शादीशुदा हीरोइनों से कन्नी काटने लगते हैं। मगर करीना कपूर आजकल इस धारणा को गलत साबित करने पर तुली हैं। दो बच्चों की मां करीना को साइन करने अभी भी निर्माता एक पांव पर तैयार हैं। बीते दिनों एक निर्माता उन्हें अपनी रामायण पर बनने वाली फिल्म में सीता की भूमिका में साइन करने के लिए जा पहुंचा। फिल्म जिस भव्य पैमाने पर बनने वाली थी, उससे करीना प्रभावित हुईं और उन्होंने सैद्धांतिक रूप से फिल्म में काम करने की हामी भी भर दी। मगर पैसे धेले की बात आते ही निर्माता सोच-विचार में पड़ गया। वजह यह थी कि सीता बनने के लिए तैयार करीना कपूर ने अपना मेहनताना 12 करोड़ बता दिया। लिहाजा उसे कहना पड़ा कि मैडम सोच-विचार करने के बाद जवाब देते हैं। निर्माताओं की परेशानी यह है कि वे सौ-दो सौ करोड़ फिल्मों पर फूंकने के लिए तैयार हैं, मगर दस-बीस करोड़ रुपए कलाकार मांग ले तो सोच-विचार में पड़ जाते हैं। जबकि वे अपनी फिल्में उसी कलाकार के नाम से ऊंचे दामों में बेचते हैं।

आयुष्मान का आजकल
हिंदी सिनेमा की दुनिया में आजकल आयुष्मान खुराना या राजकुमार राव जैसे छोटे बजट की फिल्मों के हीरो का दौर समांतर रूप से चल रहा है। आयुष्मान खुराना अपनी पहली ही फिल्म ‘विकी डोनर’ से चर्चा में आ गए। ‘बरेली की बरफी’, ‘अंधाधुन’, ‘ड्रीम गर्ल’ या सौ करोड़ी क्लब में शामिल हुई उनकी ‘बधाई हो’ जैसी फिल्मों ने छोटे बजट की फिल्में बनाने वाले निर्माताओं का ध्यान आयुष्मान खुराना की ओर खींचा। खुराना की इन दिनों ‘चंडीगढ़ करे आशिकी’ और ‘अनेक’ रिलीज के लिए तैयार हैं। खुराना ओटीटी प्लेटफॉर्म पर ‘गुलाबो सिताबो’ में अमिताभ बच्चन के साथ शुरुआत कर ही चुके हैं। गायक के रूप में भी उन्हें सफलता मिलती रही है। ‘विकी डोनर’ में गाया उनका गाना ‘पानी दा रंग…’ खूब लोकप्रिय हुआ था। इन दिनों खुराना का ध्यान देश के उत्तरी पूर्व राज्यों की पृष्ठभूमि पर बनी अपनी फिल्म ‘अनेक’ की रिलीज पर लगा है, जिसे वह अछूते विषय पर बनी फिल्म कहते हैं।






Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here