कोरोना संकट के दौर में आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जारी है। मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने उत्तर प्रदेश पर तंज किया है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि मुंबई के पास शवों को बहाने के लिए कोई नदी नहीं है। उनके इस बयान को भाजपा शासित उत्तर प्रदेश पर एक तंज के रूप में देखा जा रहा है। जहां हाल ही में सैकड़ों लाशें गंगा नदी में तैरती हुई या उसके किनारे की रेत में दबी मिली थीं।

किशोरी पेडनेकर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमने कभी भी कोविड की मौतों को कम करके नहीं दिखाया है। हम मुंबई में ऐसा कभी नहीं करेंगे। हमारे पास शवों को बहाने के लिए नदियां नहीं हैं। हम परिवारों का सम्मान करते हैं और हम विधिवत मृत्यु प्रमाण पत्र देते हैं। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना के दूसरे लहर के दौरान कानपुर से लेकर बिहार बॉर्डर तक शव गंगा नदी में देख गए थे। जिसके बाद दुनिया भर में इसकी आलोचना की गयी थी।

बताते चलें कि हाल के दिनों में मुंबई और महाराष्ट्र में कोरोना के मामले तेजी से कम हो रहे हैं। महाराष्ट्र में बुधवार को कोविड-19 के 10,989 नए मामले आए तथा 261 मरीजों की मौत हो गयी। पिछले 24 घंटे में 16,379 मरीज ठीक भी हुए। राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी।

स्वास्थ्य विभाग ने एक विज्ञप्ति में बताया कि नए मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 58,63,880 और मृतक संख्या 1,01,833 हो गयी है। महाराष्ट्र में पिछले दो दिनों से संक्रमण के नए मामलों की संख्या 10 हजार के आस-पास रह रही है।

इससे पहले नौ मार्च को महाराष्ट्र में कोविड-19 के 9927 नए मामले सामने आए थे। राज्य में अब तक कुल 55,97,304 लोग इस जानलेवा वायरस के संक्रमण को मात दे चुके हैं। राज्य में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 1,61,864 हो गयी है। संक्रमण से ठीक होने की दर 95.45 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर 1.74 प्रतिशत हो गयी है।






Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here