– कन्याओं को कराया भोज, कोरोना के खात्मे की मांगी प्रार्थना
फतेहपुर: वैश्विक महामारी कोरोना के फैल रहे संक्रमण को देखते हुए शासन के निर्देशन में इस बार भी रामनवमी का पर्व घरों व मंदिरों में ही मनाया गया। रामनवमी जुलूस पर पूरी तरह पाबंदी रही। रामभक्तों ने अपने-अपने घरों पर भगवा ध्वज फहराकर मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम व सीता की आरती कर रामनवमी का पर्व शांतिपूर्वक माहौल के बीच मनाया। घरों पर कन्याओं को भोज भी कराया गया। कोरोना के खात्मे की ईश्वर से प्रार्थना भी की गयी।
बताते चलें कि हिन्दू समुदाय में रामनवमी के पर्व का विशेष महत्व है लेकिन इस वर्ष भी कोरोना वायरस के फैल रहे संक्रमण के मद्देनजर शासन के निर्देशन में रामनवमी जुलूस पर पाबंदी रही। जिसकी वजह से राम भक्तों ने घरों पर ही रामनवमी पर्व का आयोजन किया। जिसकी तैयारियां मंगलवार की शाम से शुरू हो गयी थी। लोगों ने अपने-अपने घरों पर भगवा ध्वज फहराये और प्रातःकाल भगवान श्रीराम-सीता की आरती उतारी। उन्हें दूध व दही से स्नान भी कराया। तत्पश्चात आरती में भगवान श्री राम के जयकारे भी लगाये गये। मंदिरों में भी भगवान श्रीराम की आरती का आयोजन किया गया। शहर के कालिकन मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के बीच आरती हुयी। मंदिर के पुजारी ने भगवान श्रीराम की आरती उतारकर इस धरती से कोरोना के खात्मे की प्रार्थना की। नगर पालिका परिषद द्वारा पर्व को लेकर मार्गों की बेहतर ढंग से साफ-सफाई करायी गयी। सभी मंदिरों में मर्यादा पुरूषोत्तम की आरती हुयी। उधर दोपहर 12 बजे मोटेश्वर महादेव मंदिर परिसर में स्थित श्री रामकृष्ण साई मन्दिर में भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव आचार्य विमलाकान्त त्रिपाठी के नेतृत्व में वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ मनाया गया। पूजन के बाद सभी भक्तों को प्रसाद वितरित किया गया। कोविड को ध्यान में रखते हुए सभी भक्तों ने मास्क पहनकर व दूरी बनाकर पूजा अर्चना की। इस अवसर पर व्यवस्थापक डॉ अनुराग श्रीवास्तव, आचार्य अचल त्रिपाठी, श्रीमती पद्मिनी श्रीवास्तव, अभिनव, ऐश्वर्या, आशीष मिश्र, अभिषेक सैनी, प्रांजुल केसरवानी, अनुराग मिश्र, रवि शिवहरे, रवि द्विवेदी, अर्णव, अनुष्का, वर्षा श्रीवास्तव सहित लक्ष्मण बाबा उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here