अमेरिका में राष्ट्रपति पद संभालने के पहले कुछ घंटों के दौरान जो बाइडेन कई अहम फैसले ले सकते हैं. इनमें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन की तरफ से प्रवासी, जलवायु परिवर्तन और विश्व स्वास्थ्य संगठन को लेकर लिए गए कई फैसलों को पलटा जा सकता है.

जो बाइडेन के एक सहयोगी ने बताया कि बुधवार को बाइडेन ट्रंप की तरफ से खड़ी की गई उन दीवारों को गिरा सकते हैं, वो चाहे बात कुछ मुस्लिम बहुल देशों से यात्रा पर बैन की बात हो या फिर पेरिस जलवायु समझौता और विश्व स्वास्थ्य संगठन को दोबारा ज्वाइन करने की. इसके साथ ही, केयस्टोन एक्सएल ऑयल पाइप लाइन को मंजूरी को खारिज किया जा सकता है.

समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक, नए राष्ट्रपति की तरफ इन आदेशों पर दस्तखत यूएस कैपिटल (अमेरिकी संसद भवन) में शपथ ग्रहण के कुछ देर बाद ही किया जा सकता है. गौरतलब है कि ट्रंप ने पेरिस जलवायु समझौता से हटने का फैसला किया था. इसके साथ ही, डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने औपचारिक रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका को विश्व स्वास्थ्य संगठन से हटा लिया था. उन्होंने कोरोना महामारी को लेकर निटपने में चीन के साथ पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने का आरोप लगाया था.

डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल मई के महीने में यह ऐलान किया था कि उनका देश विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ अपने संबंधों को समाप्त कर रहा है. ट्रम्प ने कहा था कि अमेरिका डब्ल्यूएचओ को सालाना 40.5 करोड़ डॉलर (450 मिलियन डॉलर) की सहायता करता है. इसके बाद भी केवल 4 करोड़ डॉलर (40 मिलियन) की मदद करने वाले चीन क उसपर पूरा नियंत्रण है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here